बेटी की हत्या कर शव सूटकेस में पैककर फेंकने के आरोप में माता-पिता गिरफ्तार, जानिए क्यों किया जवान बेटी का कत्ल

यमुना एक्सप्रेसवे की सर्विस रोड पर सूटकेस में मिला था युवती का शव
 | 
Ayushi Murder Case

Ayushi Murder Case: सूटकेस में मिलने युवती का शव के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने आरोपी माता-पिता को गिरफ्तार किया है। बता दें कि ग्रेटर नोएडा से आगरा के बीच बने यमुना एक्सप्रेसवे की सर्विस रोड पर लाश मिली थी। मथुरा पुलिस ने सोमवार को बेटी आयुषी की हत्या के आरोप में माता-पिता को दिल्ली से हिरासत में लिया है। प्राथमिक जांच में पता चला है कि, माता-पिता ने बेटी की लगत आदतों और  प्रेम-प्रसंग के चलते इस वारदात को अंजाम दिया है।

लड़की के अडिय़ल रवैये से थे परेशान 
बताया जा रहा है बेटी आयुषी का रवैया ठीक नहीं था, उसके अडिय़ल रवैये और खराब आदतों से घर के लोग नाराज थे। समझाइश के बाद भी जब उसमें सुधार नहीं हुआ तो गुस्से में आकर पिता ने अपनी ही बेटी को लाइसेंसी बन्दूक से गोली मार दी थी। वारदात के बाद शव को मां-बाप ने सूटकेस में पैक कर मथुरा के पास हाइवे किनारे फेंक दिया था।

देर रात तक बाहर रहती थी आयुषी
पूछताछ में आयुषी के पड़ोसियों ने पुलिस को पता चला कि आयुषी अक्सर ही देर रात तक घर से बाहर रहती थी, यहा बात पिता को पसंद नहीं थी। इन्हीं सब वजहों से नाराज़ होकर पिता ने बेटी की हत्या कर दी और लाश को सूटकेस में भरकर हाइवे पर फेंक दिया।

यमुना एक्सप्रेसवे के किनारे मिला था शव
बता दें कि शुक्रवार दोपहर यमुना एक्सप्रेसवे की सर्विस रोड पर ट्राली बैग में एक शव मिला था। सूटकेस में दिल्ली में बीसीए कर रही छात्रा की लाश थी। घरवालों ने रविवार को पोस्टमार्टम हाउस पहुंचकर शव की पहचान की। युवती की शिनाख्त 22 वर्षीय आयुषी यादव के रूप में हुई। हालांकि परिजनों ने कोई खास जानकारी नहीं दी, लेकिन  पुलिस इसे ऑनर किलिंग का मामला मान रही है।