Rewa News : 700 रुपए के लिए नाबालिग बच्चे के साथ मिलकर 73 वर्षीय वृद्धा का घोंटा था गला

जिले के बैकुंठपुर थाना क्षेत्र में हुई थी हत्या
 | 
rewa news

मध्य प्रदेश के रीवा जिले के बैकुंठपुर थाना अंतर्गत मुडिय़ारी गांव में हुई वृद्धा की हत्या का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। बताया गया है कि यह हत्या महज 700 रुपए के लिए हुई थी। आरोपी युवक ने एक नाबालिग बच्चे के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया था। पहले आरोपियों ने घर की बिजली काट दी, जिससे अंधेरा हो गया। तभी खाना बनाकर वृद्धा बाहर निकली, तो देखा कि मोहल्ले में सभी के यहां लाइट जल रही है, सिर्फ उसी के घर में अंधेरा है। ऐसे में वह चारपाई पर बैठकर लाइट का इंतजार करने लगी। इसी दौरान दोनों आरोपी घर में घुसे और लूट के इरादे से वृद्धा का गला घोंट दिया। उसके बाद  700 रुपए नकदी, एक पायल, एक चैन और बैंक पासबुक लेकर भाग गए।

घटना की रात हो गए लापता
वारदात का खुलासा करते हुए एसपी नवनीत भसीन ने शनिवार को बताया कि, पार्वती सेन पत्नी स्वर्गीय महेश सेन 73 वर्ष निवासी मुडियारी की लूट की नीयत से हत्या की गई थी। वारदात को पड़ोसी रोहित रावत पुत्र चंद्रभान रावत 20 वर्ष ने एक नाबालिग बच्चे के साथ मिलकर रात 9 से 10 बजे के बीच अंजाम दिया था। इसके बाद से दोनों लापता हो गए थे। दोनों सतना जिला में एक रिश्तेदार के यहां चले गए थे।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस अंधी हत्या का खुलासा करना बड़ी चुनौती थी। क्योंकि मृतका और आरोपियों दोनों के पास कोई फोन ही नहीं था। ऐसे में साइबर सेल से भी कोई इनपुट ही नहीं मिल पाया।  जिसके बाद एफएसएल टीम, फिंगर एक्सपर्ट, डाग स्क्वायड की सहायता ली गई। सीन ऑफ क्राइम मोबाइल यूनिट के प्रभारी डॉ. आरपी शुक्ला ने साक्ष्य एकत्र करने में लगे रहे। सबसे पहले मृतका के पड़ोसियों की जानकारी एकत्र की। तो पता चला कि अक्सर नशा करने वाला रोहित रावत पुत्र चंद्रभान रावत निवासी मुडियारी अपने एक साथी नाबालिग बच्चे के साथ घटना वाले दिन से लापता है। घर वालों से पूछताछ की गई तो पता चला कि सतना गए हैं। वहां से दोनों को गिरफ्तार कर पूछताछ शूरू की तो संदेही ही हत्या के मास्टर माइंड निकले।