मध्य प्रदेश में लगातार पड़ रही ठंड से मिली राहत, जनवरी के अंतिम सप्ताह में हो सकती है ठंड की वापसी

ग्वालियर चंबल जैसे संभाग में हो सकती है बारिश.
 | 
मध्य प्रदेश मौसम अपडेट

मध्य प्रदेशः मध्यप्रदेश में लगातार पड़ रही शीत लहरी से वहां के लोगों को अब राहत मिली है. लेकिन सुनने में आ रहा है या रात ज्यादा दिन तक नहीं रहेगी जनवरी के अंतिम सप्ताह में हो सकती है कड़ाके की ठंड. वहीं दूसरी ओर कुछ जिलों में हो सकती है बारिश की संभावनाएं. वेस्टर्न डिस्टरबेंस 22 जनवरी से एक्टिव हो सकता है. इस हाल में भोपाल समेत आधे मध्यप्रदेश में न्यूनतम तापमान 2 से 3 डिग्री तक बढ़ सकता है.

आपको बता दें भोपाल, ग्वालियर और चंबल संभाग में बारिश की संभावना है. और जनवरी के अंतिम सप्ताह में फिर से ठंड की वापसी हो सकती है. मौसम वैज्ञानिक एच एस पांडे से बात करने पर उन्होंने बताया कि उत्तरी पूर्वी राजस्थान के ऊपर सिस्टम बन रहा है, बारिश की बात करें तो 22 और 23 जनवरी को हो सकती है. बादल छपते ही 26 जनवरी को तापमान में गिरावट आ सकती है. बता दें कि पश्चिमी मध्य प्रदेश में ज्यादा ठंड पड़ सकती है वहीं पूर्वी मध्य प्रदेश में इसका ज्यादा असर नहीं होगा.

फिलहाल अभी ठंड ग्वालियर और चंबल संभाग में ज्यादा है तथा प्रदेश में सबसे कम तापमान 2 डिग्री सेल्सियस नौगांव में रिकॉर्ड हुआ है. दूसरा खजुराहो, दतिया तीसरा और ग्वालियर चौथा सबसे ठंडा शहर है.

आपको बता दें कि ग्वालियर में ठंड में 4 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है, बुधवार को तापमान 2.3 डिग्री सेल्सियस था. इससे पहले इतनी ठंड 2019 में जनवरी को 2.4 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया था. मौसम विभाग के अनुसार अगले 2 दिन और ठंड पड़ने के आसार हैं. 22 से 24 जनवरी को बूंदाबांदी हो सकती है.

इंदौर के मौसम की बात करें तो तापमान मंगलवार को 22.5 डिग्री था जो बुधवार को बढ़कर 23.2 डिग्री था. लेकिन सुबह ठंडी ठंडी हवा चलने के कारण अब भी गलन महसूस हो रही है. शुक्रवार से रात के तापमान में इजाफा हो सकता है.