भोपाल में साइंस फेस्टिवल का आयोजन, CM ने कहा स्टार्टअप के लिए देंगे एक करोड़ रुपये

भोपाल में आज से इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल की शुरुआत हो चुकी है। यह फेस्टिवल मौलाना आज़ाद नेशनल इंस्टीट्यूड ऑफ़ टेक्नोलॉजी (मेनिट) में आयोजित होगा और 24 जनवरी तक चलेगा।

 | 
s

भोपाल में आज से इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल की शुरुआत हो चुकी है। यह फेस्टिवल मौलाना आज़ाद नेशनल इंस्टीट्यूड ऑफ़ टेक्नोलॉजी (मेनिट) में आयोजित होगा और 24 जनवरी तक चलेगा।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने प्रोग्राम हॉल के एसी बंद करवा दिये और कहा कि सर्दी के दिन हैं। सब कोट पेंट पहन कर आये हैं फिर AC चलाने की क्या ज़रूरत है। प्रधानमंत्री ऊर्जा बचाने के साथ हैं। जब ज़रूरत हो तभी बिजली का खर्च करें। 

सीएम ने कहा, मेनिट मध्यप्रदेश का गौरव है। ये भारत की शान है। भारत की सोच ही वैज्ञानिक है। भारत हज़ारों साल पहले से ही विज्ञान और प्रौद्योगिकी में आगे है। पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हमारे वैज्ञानिकों ने चमत्कार किए हैं। मैं प्रधानमंत्री मोदी का आभारी हूँ। अगर वैक्सीन नहीं होती तो आज हम सभी के मुँह पर मास्क दिखायी देते। 

सीएम ने छात्रों से कहा
विज्ञान को टेक्नोलॉजी की जननी कहा जाता है। रवीन्द्रनाथ टैगोर जी ने कहा था कि ज्ञान और योग्यता जिज्ञासा के बिना व्यर्थ हैं। अगर आपके मन में जानने की ज़िद नहीं है, तो आप सिर्फ़ सोचते ही रह जाओगे। जो आप सोचते हो उसको धरती पर उतारने के लिये एक ज़िद की ज़रूरत होती है। आपके मन में जो भी आईडिया आये उसको ज़मीन पर लाने का प्रयास करो। आपके साथ एमपी सरकार है। इनोवेटिव आईडिया आय तो उसे मरने मत दो। 

स्टार्टअप नीति पर दिया बयान 
एक ज़माना था जब भारत के उपग्रहों को कोई और काँच करता था। लेकिन आज हम सिर्फ़ अपने ही नहीं बल्कि दूसरे देशों के भी उपग्रह लॉंच कर रहे हैं। हमने स्टार्टअप नीति में तय किया है की हम एक करोड़ रुपये तक की सहायता करेंगे। हम इंदौर में स्टार्टअप पार्क बना रहे हैं। अगर ज़रूरत पड़ी तो भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर में भी बनायेंगे।