ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने लीं अंतिम सांस, 96 साल की उम्र में निधन, पीएम मोदी ने जताया दुख

दुनियाभर में लोगों ने जताया दुख, शाही परिवार के प्रति प्रकट कर रहे संवेदनाए
 | 
queen-elizabeth-death

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का गुरुवार को निधन हो गया। महारानी 96 वर्ष की थीं। एलिजाबेथ द्वितीय 70 साल शासन के शीर्ष पर रहीं। वह ब्रिटेन पर सबसे लंबे समय तक राज करने वाली शाही हस्ती हैं। बकिंघम पैलेस ने एक बयान जारी करते हुए बाल्मोरल में महारानी के निधन की जानकारी दी। निधन पर शाही परिवार के ट्विटर से ट्वीट कर लोगों को जानकारी दी गई कि आज दोपहर बाल्मोरल में महारानी का निधन हो गया। द किंग एंड द क्वीन कंसोर्ट आज शाम बाल्मोरल में रहेंगे और कल लंदन वापस लौटेंगें।  एलिजाबेथ द्वितीय के निधन के बाद उनके सबसे बड़े बेटे प्रिंस चाल्र्स ब्रिटेन के नए महाराज और राष्ट्रमंडल देशों के नए राष्ट्राध्यक्ष होंगे। और महारानी के अंतिम संस्कार और श्रद्धांजलि कार्यक्रम की अगुवाई करेंगे। महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने मंगलवार को औपचारिक रूप से कंजरवेटिव पार्टी की नेता लिज ट्रस को ब्रिटेन की नई प्रधानमंत्री नियुक्त किया था। 

प्रिंस चाल्र्स अब ब्रिटेन के राजा बन गए
ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने निधन के बाद ब्रिटेन के शाही परिवार के ट्विटर से महामहिम राजा का बयान जारी किया गया है। जिसमें कहा गया है कि महारानी के निधन के बाद  प्रोटोकॉल के अनुसार उनके सबसे बड़े बेटे 73 वर्षीय प्रिंस चाल्र्स अब ब्रिटेन के राजा बन गए हैं।

queen-elizabeth-death

पीएम मोदी ने जताया दुख महारानी के साथ शेयर की फोटो 
ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन पर पीएम मोदी ने दुख जताया है. मोदी ने लिखा कि, महारानी एलिजाबेथ द्वितीय को एक दिग्गज के रूप में याद किया जाएगा. महारानी अपने राष्ट्र और लोगों को एक प्रेरक नेतृत्व प्रदान किया. उन्होंने सार्वजनिक जीवन में गरिमा और शालीनता का परिचय दिया। मोदी ने आगे लिखा कि, 2015 और 2018 में यूके की यात्राओं के दौरान महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के साथ यादगार मुलाकातें हुईं। उनकी गर्मजोशी और दयालुता को कभी नहीं भुला पाउंगा। उन्होंने मुझे वह रूमाल दिखाया जो महात्मा गांधी ने उन्हें उनकी शादी में उपहार स्वरूप में दिया था