पीएम मोदी की नसीहत पर शिवराज सरकार का बड़ा कदम, शिक्षकों को तोहफा

चुनावी साल को लेकर मोदी ने दी है सेवा करने का मूल मंत्र, इस पर जुटी सरकार
 | 
पीएम मोदी की नसीहत पर शिवराज सरकार का बड़ा कदम, शिक्षकों को तोहफा

विध्य भास्कर न्यूज। चुनावी साल को लेकर गत दिनों आयोजित भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी  ने सेवा का मंत्र दिया है। इसके बाद प्रदेश की भाजपा सरकार व मुख्य मंत्री एक्शन मोड है। इसी क्रम जहां पहले जिला पंचायत के अध्यक्ष का सम्मेलन बुलाकर कई सौगाते देने की बात कही है। ही इसके बाद अब शिक्षकों पर बड़ा दावा खेला है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से प्रदेश के शिक्षकों को लुभाने के लिए  चार  प्रतिशत महंगाई भत्ता बढ़ाने शनिवार को घोषणा की है। वह सीहोर के नसरुल्लागंज में स्मार्ट क्लास में शिक्षकों का अभिनंद करते हुए यह घोषणा की है। मुख्य मंत्री की इस घोषणा के बाद शिक्षकों को  मानदेय बढ़ेगा।  बता दें कि शिक्षक संघ लंबे समय से महंगाई भत्ता बढ़ाने की मांग कर रहा है। प्रदेश में विधान सभा चुनाव के पहले भाजपा सरकार का यह बढ़ा कदम माना जा रहा है।

पीएम मोदी की नसीहत पर  शिवराज सरकार का बड़ा कदम, शिक्षकों को तोहफा
चुनावी साल को लेकर मोदी ने दी है सेवा करने का मूल मंत्र, इस पर जुटी सरकार

मुख्य मंत्री ने कार्यक्रम में कहा आज जिले के अध्यापकों का अभिनंदन करने और उनका धन्यवाद ज्ञापित करने आया हूँ। साथ ही मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी शिक्षकों से अपील की कि वे इसी पवित्र भावना के साथ कार्य करें और प्रदेश के हर विद्यालय को बेहतर और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का केंद्र बनाए। मैं शिक्षकों के प्रति आदर प्रदर्शित करते हुए उनके महंगाई भत्ते में 4 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की घोषणा करता हूं।

मुख्यमंत्री शनिवार को आज सीहोर जिले की नसरुल्लागंज में "हर शाला-स्मार्ट शाला" कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी साधना सिंह भी कार्यक्रम में शामिल हुईं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दानदाता शिक्षकों, जन-प्रतिनिधियों एवं समाजसेवियों को सम्मानित किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विद्यार्थियों के प्रश्नों के समाधानकारक उत्तर दिए और उन्हें प्राणायाम करके बताया। मुख्यमंत्री ने मेधावी विद्यार्थियों को सम्मानित भी किया।

आधुनिक शिक्षा के केन्द्र होगें सीएम राइज विद्यालय 
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार हर 20 से 25 किलोमीटर की परिधि में सीएम राइज स्कूल प्रारंभ कर रही है, जो आधुनिक एवं उच्च गुणवत्तायुक्त शिक्षा के केंद्र होंगे। इनके लिए आधुनिक लैब, लाइब्रेरी, स्मार्ट क्लास आदि सभी सुविधाओं से युक्त भवन बनाए जा रहे हैं। प्रत्येक भवन की लागत लगभग 35 करोड़ रूपए है। आसपास के गाँवों से विद्यार्थी बसों से इन विद्यालयों में जाएंगे।