ओएनडीसी लाएगा ई-काॅमर्स में क्रांति, छोटे दुकानदरों को सबसे अधिक लाभ

 | 
E Comm

देशभर में आम लोगो के लिये ओपन नेटवर्क फाॅर डिजिटल काॅमर्स की शुरूवात इसी महीने होने की उम्मीद है। ओएनडीसी एक तरह का सरकारी ई-काॅमर्स मार्केटप्लेस हैं जहां छोटे से छोटे किराना व्यापारी भी अपना रजिस्टेशन कराकर अपना समान बेच सकतक हैं। इस प्लेटफाॅर्म पर खुदरा और थोक खरीदारों को किसी भी रजिस्टर्ड वेंडर से समान खरीदने की सुविधा मिलेगी। ओएनडीसी देश में ई-काॅमर्स के लिये क्रांतिकारी साबित होगा। इससे ग्राहको को तो फायदा होगा ही छोटे किराना दुकानदारों के साथ खिलौना बनाने वाले कपड़े के दुकानदारो आदि को बड़ा लाभ होगा। ये इस प्लेटफाॅर्म के जरिए अपनी बिक्री बढ़ा सकेंगे। इस एक प्लेटफाॅर्म पर ग्राहको को सभी सेलर्स मिल जायेगे चाहे वे किसी भी ई-काॅमर्स पर रजिस्टर्ड हों। 

ऐसे काम करेगी ओएनडीसी
कोई ग्राहक यदि पेटीएम से ओएनडीसी पर आॅगइन करेगा तो उसे केवल पेटीएम के सेलर्स के प्रोडेक्ट नही बल्कि मीशो, अमेजन, फिलपकार्ड, स्नैपडील जैसे सेलर्स को भी प्रोडेक्ट दिखेंगे, जिनकी खरीदारी की जा सकेगी। 
ओएनडीसी एक तरह की ओपन रजिस्ट्री होगी जिसमें छोटे दुकानदार खुद को  रजिस्टर करा सकेंगे। किसी रिटेलर को आॅनलाइन मार्केट में सामान बेचने के लिये खुद के अलग-अलग ई-काॅमर्स प्लेटफार्म पर रजिस्टर नही करना होगा। 
कोई शुल्क नही......
इस प्लेटफाॅर्म के जरिये लोग साबुन-तेल की खरीदारी से लेकर हवाई टिकट बुकिंग, ग्राॅसर, फूड आॅडर और डिलवरी, होटल बुकिंग आदि करा पायेगे। इस प्लेटफाॅर्म से जुड़कर सामाज बेचने वाले दुकानदारों को कोई शुक्ल नही देना पडेगा।