दूल्हे का झूठ पकड़ा गया तो मंडप से उठी दुल्हन, शादी से किया इनकार, थाने तक पहुंचा मामला, बैरंग लौटी बारात, जानिये पूरी घटना

सारी रात दुल्हन को मनाने की होती रही कोशिश, लेकिन अपने फैसले पर अडिग रही युवती
 | 
Angry Bride Cancel Wedding

The bride refused to marry when the groom's lie was caught: शादियों के मौके पर होने वाली रस्मों और अन्य घटनाओं की वीडियो आये दिन वायरल होती हैं। लेकिन एक ऐसी घटना का वीडियो सामने आया है, जो शायद सबसे दुर्भाग्यपूर्ण है। दरअसल एक बात से नाराज हुई दुल्हन (Angry Bride Cancel Wedding) ने दूल्हे और उसकी बारात को बिना शादी किये ही वापस लौटा दिया। नाराज दुल्हन ने साफ-साफ कह दिया कि वह किसी अनपढ़ से विवाह नहीं करेगी। किसी रस्म के तहत दुल्हन वालों की तरफ से दूल्हे को 2100 रुपए गिनने के लिए दिए गए थे, लेकिन वह गिन नहीं पाया। इस बात पर गुस्साई दुल्हन ने शादी से इनकार कर दिया।

एक झूठ पड़ गया महंगा
बताया जा रहा है कि यह घटना उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद (Farrukhabad in Uttar Pradesh) की है। मीडिया रिपोट्र्स के अनुसार मुताबिक फर्रुखाबाद की रहने वाली युवती की शादी मैनपुरी के एक युवक से होने जा रही थी। शादी के लिए दूल्हे के साथ सभी बाराती भी पहुंच चुके थे। दरअसल रिश्ता तय करते समय  दुल्हन के परिजनों को यह नहीं बताया गया था कि दुल्हा पढ़ा-लिखा नहीं है। लड़के वालों का यही झूठ उकने लिए भारी पड़ गया। 

रात को अचानक पता चली ये बात
गुरुवार की शाम धूमधाम से बारात आई और शादी की रस्में शुरू भी शुरू हो गईं। रात के करीब एक बज रहे थे। द्वारचार की रस्म चल रही थी, इसी दौरान किसी ने दुल्हन के भाई को बताया कि दूल्हा अनपढ़ है। इस बात की पुष्टि के लिए भाई ने द्वारचार के दौरान ही 2100 रुपए पंडित जी को दिये और पंडित जी कहा कि दूल्हे से यह रुपए गिनवाओ। पंडित ने वैसा ही किया और दूल्हे की पोल खुल गई, वह नहीं गिन पाया।

दुल्हन ने किया शादी से इनकार
जब दूल्हे को रुपये गिनने के लिए दिये गये तो दूल्हे को अजीब लगा। लेकिन जब दूल्हा रुपये नहीं गिन पाया तो हड़कंप मच गया। दुल्हन के भाई ने यह बात बहन बताई, जिससे दुल्हन भड़क गई, और उसने शादी करने से मना कर दिया। दुल्हन ने साफ कहा दिया कि वह अंगूठाछाप से शादी नहीं करेगी।

बैरंग लौट गई बारात 
शादी  से इनकार करने के बाद पूरी रात दुल्हन को मनाने की कोशिश की गई। लेकिन वह नहीं मानी और मामला थाने में पहुंच गया। जिसके बाद दूल्हे और दुल्हन पक्ष में समझौता होने के बाद बारात बैरंग वापस लौट।