Chanakya Niti: पत्नी बिना शर्म के पति के इस काम के लिए झट से करदे हां

पति कुछ चीजों के मांग करता है तो पत्नि को बेझिझक पूरी करनी चाहिए।
 | 
Chanakya Niti For Married Life

Chanakya Niti: पत्नी बिना शर्म के पति के इस काम के लिए झट से करदे हां

महान अर्थशास्त्री और नीतिकार आचार्य चाणक्य ऐसे महाज्ञानी थे जिनसे राजा महाराजा शिक्षा ग्रहण किया करते थे। उनके द्वारा रचित चाणक्य नीति का आज भी लोग मानते और पालन भी करते है। चाणिक्य नीति में पति पत्नी  के बीच कैसा रिश्ता होना चाइए उसका वर्णन किया गया है। दांपत्य जीवन पर कही विचारो का वर्णन भी चाणिक्य नीति में है। कोई भी व्यक्ति अगर चाणिक्य नीति को अपनाता है वह अचूक सफलता हासिल करता है। इसकी बाते लोगो को आगे बढ़ने की सलाह देती है।

चाणक्य आचार्य ने सुखी दांपत्य जीवन के लिए बहुत सारी बाते कहीं है। उन्होने बताया है गृहस्थ जीवन में खुशियां तभी आएगी जब पति और पत्नी दोनों एक दूसरे के साथ खुश रहें। इस लिए पत्नी को पति की कुछ चीजों का ध्यान रखना जरूरी है। दोनो को संतुष्ट रहना बहुत जरूरी है। अगर पति अपनी पत्नि से कुछ चीजों के मांग करता है तो पत्नि को  बेझिझक पूरी करनी चाहिए।
 
प्यार की चाहत को करे पूरा

पति पत्नी के बीच प्रेम बरक़रार रहना ज़्यादा ज़रूरी है। दोनो का रिश्ता प्यार से ही मजबूत रहता है। कही बार ध्यान ना देने से दोनो के बीच दरार आना शुरु हो जाती है। दोनो के बीच प्यारा की कमी होगी तो लगाई भी ज्यादा होती रहेगी। लड़ाई झगडे होने से दोनो के बीच दूरियां आना शुरू हो जाती है। इस स्थिति में पत्नी को अपने पति पर ध्यान देने की जरूरत है। पत्नि को पति के लिए हमेशा प्रेम जाहिर करते रहना चाहिए। इसलिए पति के प्रेम की चाहत को संतुष्ट करना पत्नी का कर्तव्य है।
 

पति की खुशियों का ध्यान रखे

पति के सुख और दुख में साथ रहना एक पत्नी का सब से बड़ा कर्तव्य है। पति किसे बात को लेकर परेशान हो दुखी हो तो पत्नी को पति के दुखी होने के वजह पता करनी चाइए उसे मनाना चाहिए। पति को उदास नही होने देना चाहिए। छोटी छोटी बातों में खुशियां ढूंढें। अगर रिश्ता बिखर रहा है तो। चाणक्य नीति को अपनाए और अपने रिश्ते को और बेहतरीन बनाने की कोशिश करे।