यह होती है एक धोखेबाज और स्वार्थी स्त्री की पहचान, आप भी जान ले नहीं तो पछताना पड़ेगा

यह होती है एक धोखेबाज और स्वार्थी स्त्री की पहचान, आप भी जान ले नहीं तो पछताना पड़ेगा
 | 
news chankya niti

वैवाहिक जीवन के बाद एक अच्छी पत्नी की चाह हर किसी को होती हैं. सुखमय वैवाहिक जीवन के लिए पत्नी से प्यार मिलना जरूरी होता हैं. लेकिन हर किसी के साथ ऐसा नहीं होता हैं. कई लोग होते हैं. जिनको धोखेबाज और स्वार्थी पत्नी मिल जाती हैं. हर किसी के भाग्य में वफादार पत्नी नहीं होती हैं. महान अर्थशास्त्री चाणक्य ने अपनी नीतियों में ऐसी ही कुछ धोखेबाज और स्वार्थी स्त्रियों के बारे में बताया हैं. उनके कुछ ऐसे लक्षण होते हैं. जिससे आप स्वार्थी और धोखेबाज स्त्री के बारे में जान सकते हैं. 


त्याग की भावना


वैवाहिक जीवन के बाद या फिर प्यार में अगर कोई स्त्री किसी भी प्रकार से त्याग की भावना नहीं रखती हैं. तो मान लीजिए ऐसी स्त्री आपके साथ कभी भी धोखा कर सकती हैं. ऐसी स्त्री स्वार्थी होती हैं. जो अपने पार्टनर के लिए छोटा सा भी बलिदान नहीं दे सकती हैं. ऐसी स्त्री आपको कभी भी धोखा दे सकती हैं.


गुणी और अवगुणी स्त्री


अगर कोई स्त्री गुणी हैं. तो वह समाज और परिवार के लिए अच्छी मानी जाती हैं. जो स्त्री बड़े बुजुर्गो का और परिवार वालों का सम्मान करती हैं. ऐसी स्त्री गुणवान मानी जाती हैं. ऐसे स्वभाव वाली स्त्री कभी भी आपको धोखा नही देगी. बल्कि ऐसी स्त्री तो आपके परिवार वालों को भी सहयोग देने वाली होगी.


लेकिन जिस स्त्री में अवगुण होगे. ऐसी स्त्री किसी का भी मान-सम्मान नहीं करेगी. उसकी वाणी में कड़वाहट होगी. इस प्रकार की स्त्री समाज और परिवार का विनाश करने वाली होती हैं. अवगुणी स्त्री आपके साथ कभी भी धोखा कर सकती हैं. इसलिए किसी भी स्त्री के साथ किसी भी प्रकार के संबंध स्थापित करने से पहले उसके गुण और अवगुण के बारे में ज़रूर जान ले.


स्वार्थी स्त्री


अगर कोई स्त्री सिर्फ अपने बारे में ही सोचती हैं. अपना ही भला सोचती हैं. तो ऐसी स्त्री स्वार्थी मानी जाती हैं. ऐसी स्त्री कभी एक अच्छी पत्नी या माँ नहीं बन सकती. ऐसी स्त्री अपने भले के लिए झूठ बोलेगी. इसलिए जो स्त्री सिर्फ अपने बारे में ही सोचती हैं. अन्य किसी से भी कोई लेनादेना नहीं रखते हैं. तो ऐसी स्त्री स्वार्थी स्त्री मानी जाती हैं.

(Disclaimer: यह सभी बातें चाणक्य नीति से मिली जानकारियों पर आधारित हैं. Vindhya Bhaskar इनकी पुष्टि नहीं करता है.)