मध्य प्रदेश में जल्दी ही चलेंगी हवा से चलने वाली बसें: जानिए गडकरी ने क्या बनाया है प्लान

मध्य प्रदेश में मिशन 2023 पर शुरू हुआ काम 
 | 
nitin gadakari

गुरुवार को ग्वालियर में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी, ज्योतिरादित्य सिंधिया और नरेंद्र सिंह तोमर ने बटन दबाकर एलिवेटेड रोड सहित ११२८ करोड़ के विकास कार्यों की आधारशिला रखी। इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि सौगातों की वर्षा के साथ ही बदरा भी खूब बरस रहे हैं। नितिन गडकरी ने कहा कि अटल जी और राजमाता ने हमें राष्ट्र के लिए काम करना सिखाया। उन्होंने कहा कि अटल जी ने मुझे आदेश दिया था गांवों को सड़कों से जोडऩा है, उसके तीन महीने बाद हमने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना शुरू की। उनके प्रधानमंत्री रहते हुए देश के साढ़े करीब तीन लाख गांवों को सड़क से जोड़ा गया। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि मध्य प्रदेश में हवा में चलने बाली बस ला रहा हूं। उन्होंने कहा कि भोपाल में झील के ऊपर उडऩे वाली बसें दिखेंगी।

गुरुवार का दिन ग्वालियर-चंबल अंचल के लिए बहुत खास हो गया। इस क्षेत्र के लिए ११२८ करोड़ की लागत से बनने जा रही २२२ किलोमीटर लंबी ७ सड़क परियोजनाओं की सौगात मिली है। जिसका शिलान्यास व लोकार्पण केन्द्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने किया। साथ ही उन्होंने ग्वालियर-आगरा के बीच ८७ किलोमीटर लंबे ग्रीन बिल्ड ६-लेन हाइवे को भी मंजूरी दे दी। इसके बनने के बाद ग्वालियर से दिल्ली तक की दूरी सिर्फ ३ घंटे में पूरी हो सकेगी। वहीं ग्वालियर-चंबल सहित राजस्थान और यूपी के आगरा में व्यापारिक गतिविधियां बढ़ेंगी। इसके साथ ही गडकरी ने प्रदेश में १५ रोप-वे बनाने की बात कही है। इसमें ग्वालियर, उज्जैन, धार, सीहोर और सलकनपुर आदि प्रमुख हैं।