मध्य प्रदेशः कर्मचारीयों और पेंशनरों के महंगाई भत्ते में 4% बढ़ोतरी

गणतंत्र दिवस से बढ़ाया जा सकता है कर्मचारियों का महंगाई भत्ता.
 | 
4% बढ़ाया जा सकता है महंगाई भत्ता.

26 जनवरी या गणतंत्र दिवस जल्द ही आने वाला है, ऐसे में सरकार का फर्ज बनता है कि प्रदेश के कर्मचारियों, जो दिन-रात प्रदेश को आगे बढ़ाने में अपना काम बखूबी करते हैं, उन्हें कोई ना कोई तोहफा जरूर दिया जाए. इसलिए मध्य प्रदेश सरकार द्वारा कर्मचारियों और पेंशनरों के महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी होने की खबर सामने आ रही है. 

आपको बता दें, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा कर्मचारियों और पेंशनरों को महंगाई भट्टे में 4% की बढ़ोतरी के साथ उसे 38% करने की घोषणा गणतंत्र दिवस के दिन कर सकते हैं. बता दें कि, केंद्रीय कर्मचारियों को 38% महंगाई भत्ता दिया जा रहा है. वहीं दूसरी ओर राज्य के कर्मचारियों को 34% दिया जा रहा है, और पेंशनरों को 33% महंगाई भत्ता दिया जा रहा है जो कि केंद्रीय कर्मचारियों के मुकाबले 5% कम है.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अगस्त 2022 में अपने राज्य कर्मचारियों का महंगाई भत्ता बढ़ाकर उसे केंद्र कर्मचारियों के बराबर कर दिया था. परंतु उसी दौरान केंद्र ने अपने कर्मचारियों का महंगाई भत्ता बढ़ाकर 38% कर दिया था. यही वजह है कि राज्य कर्मचारी चाहते हैं कि उनका महंगाई भत्ता बढ़ाकर केंद्र के बराबर कर दिया जाए.

आपको बता दें राज्य में साढे चार लाख पेंशनर है, जिनकी हालत जल्द ही सुधारने वाली है. इनके महंगाई भत्ते भी बढ़ाए जा सकते हैं. हालांकि फिलहाल इन्हें 33% महंगाई भत्ता दिया जा रहा है और केंद्रीय पेंशनरों को 38% दिया जा रहा है.

यह साल मध्यप्रदेश के लिए चुनावी साल है, जिसकी वजह से सरकार से उनकी मांगे और नाराजगी दोनों ही बढ़ती जा रही है. यही कारण है कि सरकार 26 जनवरी को 4% महंगाई भत्ता बढ़ा सकती है. वित्त विभाग की तरफ से इसकी पूरी तैयारी की जा चुकी है. सरकार 26 जनवरी से महंगाई भत्ता बढ़ाने की घोषणा करेगी और कर्मचारियों को इसका लाभ जनवरी 2023 से होने लगेगा.