भारत में एक बार फिर लगेगा लॉकडाउन, आज करेंगे PM मोदी बैठक

लोगों को लग रहा है कि भारत एक बार फिर कहीं इस महामारी की चपेट में ना आ जाये। और फिर से लॉकडाउन ना लग जाये।
 | 
s

चीन की हालत से एक बार दुनिया फिर सहम गई है। अमेरिका में भी कोरोना के मामले बढ़ते हुए दिखाई दे रहे हैं। 130 करोड़ की आबादी वाले भारत को भी कोरोना कि पाँचवीं लहर की चिंता सताने लगी है। 2022 में तो ज़्यादा कुछ नहीं हुआ लेकिन 2023 में कुछ देशों में 2020 जैसे हालात बनते हुए दिखाई देने लगे हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ़ से कहा गया है की भारत में भी कुछ ज़रूरी पाबंदियाँ आज 22 दिसंबर से लागू होने वाली है। वहीं प्रधानमंत्री मोदी इस मामले पर दोपहर 3:30 बजे हाई लेवल की मीटिंग करने जा रहे हैं। ऐसे में लोगों को लग रहा है कि भारत एक बार फिर कहीं इस महामारी की चपेट में ना आ जाये। और फिर से लॉकडाउन ना लग जाये। 

भारत में एक बार फिर क्या लगेगा लॉकडाउन 
स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि देश में लॉकडाउन तो स्थिति तो होगी नहीं, क्योंकि 95% लोगों को कोरोना के 2 डोज़ और 27% लोगों को तीन डोज़ लग चुके हैं। भारतीयों की इम्युनिटी चीनियों से काफ़ी ज़्यादा है। चीन में Zero Covid Policy 
के चलते ही बीएफ-7 वेरिएंट ने तबाही मचा रखी है। लोग कई महीनों से अपने घरों में क़ैद है और देश में हार्ड इम्युनिटी डेवलप नहीं हो पायी। जबकि भारत में ये नहीं है। यहाँ के लोगों में कोरोना से लड़ने के लिए स्ट्रॉंग इम्युनिटी बन गई है। ऐसा नहीं है की भारत में कोरोना नहीं है। वो हमारे आसपास ही है लेकिन हम पर इसका कोई असर नहीं हो रहा है। 

चीन से भारत आने वालों पर रोक नहीं 
2020 में सरकार से यही गलती हुई थी। जब चीन में कोरोना पूरी तरह फेल चुका था तब भी चीन से भारत आने वाली डायरेक्ट और इनडायरेक्ट फ्लाइट पर रोक नहीं लगाई गई थी। जिसका कारण था की भारत में कई लोगों कि मृत्यु हुई थी। अभी तक चीन से भारत आने वाली किसी भी फ्लाइट पर रोक नहीं लगाई है। 

भारत में कोरोना के आँकड़े
2020 में मार्च से लेकर 21 दिसंबर 2022 तक भारत में अब तक कुल 4.46 करोड़ लोग कोरोना से संक्रमित पाये गए है। जिसमे से अभी तक 5.30 लाख लोगों ने अपनी जान गँवा दी है। वर्तमान में भारत में 3408 ऐक्टिव केस हैं । वही अमेरिका और चीन में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं।