Gujarat Election: सौराष्ट्र में पीएम मोदी आज करेंगे कई चुनावी रैलियां, अमित शाह की भी होंगी जनसभाएं, जानिए सौराष्ट्र क्यों अहम

गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए मैदान में होंगे दो बड़े नेता
 | 
Gujarat Election

भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेता और स्टार प्रचारक गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए ताबड़तोड़ चुनावी रैलियां कर रहे हैं। आज प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की रैलियां होने जा रही हैं। बताया गया है कि पीएम मोदी आज गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र के वेरावल, अमरेली, धोरारजी और बोटाद में चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे।

बता दें कि इससे पहले शनिवार को पीएम मोदी ने गुजरात के वलसाड में रोड शो व रैली की थी।  इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने गुजरात चुनाव में फिर से भाजपा को वोट देने की जनता से अपील की। साथ ही उन्होंने अपने भाषण में कांग्रेस पर भी जमकर हमला बोला। शनिवार को प्रधानमंत्री  मोदी ने गुजरात को बदनाम करने वाले लोगों से सावधान रहने के लिए भी कहा। 

आज चार रैलियों को प्रधानमंत्री मोदी करेंगे संबोधित
बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री अपने गृह राज्य के दौरे पर पहुंचे हैं और वो रविवार को सौराष्ट्र क्षेत्र में चार चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे। पीएम मोदी की ये रैलियां धोरारजी, वेरावल, अमरेली और बोटाद में होंगी। रविवार को वो सोमनाथ मंदिर में दर्शन भी करेंगे। दर्शन के बाद उनका सौराष्ट्र क्षेत्र में रैलियों का कार्यक्रम शुरू होगा। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को लेकर वेरावल, अमरेली, धोरारजी और बोटाद में तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया है। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 20 नवंबर से 22 नवंबर तक लगातार तीन दिनों तक गुजरात के सौराष्ट्र में रैलियां करेंगे। 

गृह मंत्री अमित शाह करेंगे दो जनसभाएं
वहीं गृह मंत्री अमित शाह भी चुनावी मैदान में डटे हुए हैं, गुजरात विधानसभा चुनाव अगले महीने होने वाले हैं, जिसे लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह राज्य के तापी और नर्मदा जिलों में आज दो जनसभाओं को संबोधित करेंगे। रविवार को अमित शाह तापी के निझर गांव और नर्मदा के देदियापाड़ा कस्बे में जनसभा का आयोजन किया गया है। 

भाजपा के लिए सौराष्ट्र है जरूरी
पीएम मोदी सौराष्ट्र में डटे हुए हैं, इसके पीछे बड़ी वजह है। बता दें कि पिछले गुजरात विधानसभा चुनाव में भाजपा सौराष्ट्र में बड़ा नुकसान हुआ था। सौराष्ट्र के इन विधानसभा क्षेत्रों में भाजपा एक भी सीट नहीं जीत पाई थी। बीजेपी ने भले ही राज्य में सरकार बनाई, लेकिन यहां पर उसका कोई असर नहीं दिखा, यहां के वोटर्स पिछले चुनाव में कांग्रेस को वोट दिया था।