लखीमपुर कांड: शादी के लिए दबाव बनाया तो दुष्कर्म के बाद कर दी दो सगी बहनों की हत्या, दोस्तों के साथ मिलकर की वारदात

पुलिस ने किया खुलासा, बुधवार को दो नाबालिग दलित बहनों की लाश पेड़ से लटकती हुई मिली
 | 
lakhimpur kand

यूपी के लखीमपुर में बुधवार को दो नाबालिग दलित बहनों की लाश पेड़ से लटकती हुई मिली है। दोनों सगी बहने हैं। मामला लखीमपुर खीरी के निघासन कोतवाली क्षेत्र का है। गांव के बाहर किशोरियों की लाश गन्ने के खेत में पेड़ से लटकी हुई मिली। मामले में गुरुवार को पुलिस ने प्रेस कांफ्रेंस कर खुलासा किया हे।  जिसमें पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन ने बताया कि दोनों बहनों की दुष्कर्म के बाद हत्या की गई थी। इस वारदात को छह लोगों ने मिलकर अंजाम दिया था। नामजद छोटू समेत छह आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों में छोटू, सुहेल, जुनैद, हफीजुल्लाह, करीमुद्दीन औरआरिफ शामिल हैं। इनमें से एक अभियुक्त जुनैद को पुलिस ने मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया, जुनैद के पैर में गोली लगी है। पुलिस ने पॉक्सो और संबंधित धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है। बताया गया है कि आरोपियों के कपड़े का और उनका डीएनए टेस्ट भी कराया जा रहा है। पांच अभियुक्त एक ही गांव के रहने वाले हैं। सभी आरोपी आपस में दोस्त हैं। मुख्य साजिश कर्ता गांव के छोटू ने ही किशोरियों से इनकी दोस्ती कराई थी। छोटू परिवार का पड़ोसी है। हालांकि घटना के दौरान छोटू मौके पर मौजूद नहीं था। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि आरोपी दोनों बहनों को बहला फुसला के खेत में ले गए थे और वहां दुष्कर्म किया। एसपी ने बताया कि सुहैल और जुनैद ने पूछताछ में दुष्कर्म की बात स्वीकारी है। 

शादी पर अड़ गई लड़कियां, तो कर दी हत्या
एसपी ने बताया कि आरोपियों ने स्वीकारा कि दोनों लड़कियां शादी की जिद पर अड़ गई थीं, जिसके बाद तीनों ने दुपट्टे से दोनों बहनों की गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद साक्ष्य मिटाने के लिए दो आरोपियों कलीमुद्दीन और आरिफ को भी मौके पर बुलाया। जिन्होंने लड़कियों को फांसी पर लटकाने में मदद की। ताकि यह आत्महत्या का मामला लगे।