Success Story: दिन में ड्यूटी और रात में पढ़ाईकर पहले ही प्रयास लोकेश मिश्रा बने ADJ

UPHJS Result : रीवा जिले के त्योंथर न्यायालय में ADOP के पद पर पदस्थ थे लोकेश मिश्रा
 | 
ADJ Lokesh Mishra

रीवा। दिन में ड्यूटी रात में पढ़ाई कर के पहले ही प्रयास में अतिरिक्त जिला जज पद पर चयनित होने में सफलत हासिल कर ली। बात कर रहे हैं रीवा जिले के त्योंथर न्यायालय में पदस्थ ADOP लोकेश मिश्रा की, जिनका चयन यूपी में एडीजे के पद पर हुआ है। बताया गया है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट द्वारा उत्तर प्रदेश उच्च न्यायिक सेवा (UPHJS 2020) का भर्ती परिणाम सोमवार को घोषित किया गया है। जिसमे लोकेश मिश्रा ने अपनी पहली ही कोशिश में 23वीं रैंक हासिल कर अतिरिक्त जिला जज (ADJ)  का पद प्राप्त किया है। बता दें कि एचजेएस (UPHJS 2020) की लिखित परीक्षा 25, 26 और 27 मार्च को आयोजित की गई थी। जबकि इसका साक्षात्कार एक और दो अगस्त को हुए थे। एचजेएस (UPHJS 2020) का अंतिम परिणाम 12 सितंबर 2022 की रात 11.30 आया है।

प्रयागराज के फूलपुर में जन्म
36 साल के लोकेश मिश्रा का जन्म यूपी के प्रयागराज जिले के फूलपुर तहसील अंतर्गत तुलापुर गांव में हुआ। इनके पिता वरुण कुमार मिश्रा उत्तर प्रदेश में जिला जज के पद से सेवानिवृत्त हुए हैं। जबकि इनके बड़े भाई विकास मिश्रा बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट हैं। 

युवा पीढ़ी के लिए एक प्रेरणा श्रोत
लोकेश मिश्रा ने साल 2010 में इलाहाबाद विश्वविद्यालय से LLB की पढ़ाई पूरी करते हुए डिग्री हासिल की। उसके दो साल बाद वर्ष 2012 से मध्यप्रदेश के रीवा जिले में ADPO के पद उनका चयन हो गया।  वर्तमान में वो त्योंथर न्यायालय पर ADOP के पद पर पदस्थ थे। बताया गया है की दिन में वो ड्यूटी करते थे और रात में पढ़ाई। पहले प्रयास में ही अतिरिक्त जिला जज पद पर चयन हो गया। उनकी यह सफलता युवा पीढ़ी के लिए एक प्रेरणा श्रोत से कम नहीं है।