प्रधान आरक्षक को चाय-पान करना पड़ा महंगा, लॉकअप से एनडीपीएस एक्ट का अपराधी फरार

दराज खोलकर निकाली चाभी, लापरवाह पुलिसकर्मी को किया निलंबित
 | 
NDPS Act criminal absconding from lockup

रीवा जिले के मनगवां थाने में पुलिसकर्मी की लापरवाही से लॉकअप से एनडीपीएस एक्ट का अपराधी फरार हो गया है।  जिस पर कार्रवाई करते हुए एसपी नवनीत भसीन ने लापरवाह पुलिसकर्मी को निलंबित कर दिया है। बताया गया है कि मंगलवार की सुबह 9 बजे थाने का एचसीएम सुबह ड्यूटी ज्वाइन किया और फिर परिसर के बाहर गुमटी में चाय-पान करने लगे।  जब वह थाने लौटे तो लॉकअप का कैदी गायब था।

कयास इस बात का लगाया जा रहा है कि, रात में ड्यूटी करने वाला मुंशी सुबह जब घर जा रहे थे, तो नशे के तस्कर ने उन्हें चाबी को दराज में रखते हुए देख लिया था। लेकिन दिन में ड्यूटी करने आए एचसीएम दराज को खुला छोड़कर चाय-पान करने चले गए। ऐसे में शातिर अपराधी दराज से चाबी निकालकर हथकड़ी खोला और दबे पांव फरार हो गया।  लॉकअप से कैदी के भागने की जानकारी  लगते ही मनगवां थाने से लेकर एसपी ऑफिस तक हड़कंप मच गया है।

मनगवां थाना प्रभारी ने बताया कि रामायण मिश्रा उर्फ पिंटू निवासी टिकुरी नंबर 37 को सोमवार की रात गिरफ्तार किया गया था। आरोपी के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट का प्रकरण कायम है। थाने के एचसीएम की 12-12 घंटे ड्यूटी रहती है।  ऐसे में मंगलवार की सुबह 9 बजे से संतोष सिंह एचसीएम की ड्यूटी पर तैनात थे। तभी नशे का तस्कर मौका देखकर फरार हो गया है।

मनगवां थाने से अपराधी के भागने की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को भेजी गई थी। शाम तक एसपी नवनीत भसीन ने प्रधान आरक्षक संतोष सिंह की भूमिका संदिग्ध मानते हुए निलंबित कर दिया है। चर्चा है कि प्रधान आरक्षक की छोटी सी लापरवाही पर रीवा पुलिस की प्रदेशभर में किरकिरी हुई है।