Rewa News: रीवा नगर निगम से गायब हो गए 126 सफाई कर्मचारी, लेखा समिति की बैठक में हुआ खुलासा

निगम में नियुक्त हैं 776 सफाई कर्मचारी, और काम पर हैं सिर्फ 650, शेष का पता नहीं 
 | 
Rewa Nagar Nigam

फोटो- २८--

रीवा। काभी समय बाद रीवा नगर निगम के लेखा समिति की बैठक हुई। जिसमें अध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह पटेल ने सभी विभाग प्रमुखों से आय और व्यय की जानकारी मांगी, लेकिन अधिकांश विभाग प्रमुख सही रिपोर्ट नहीं दे पाए। जिसके चलते अध्यक्ष ने नाराजगी भी जाहिर की है। बताया गया है कि शहर की सफाई व्यवस्था के लिए नगर निगम के आंकड़ों के अनुसार 776 कर्मचारी नियुक्त हैं। बैठक के दौरान दोनों प्रभारी स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा प्रस्तुत की गई के मुताबिक 650 कर्मचारी ही काम कर रहे हैं। इस पर समिति अध्यक्ष ने पूछा कि जब केवल 650 कर्मचारी काम पर हैं तो शेष कर्मचारी कहां गायब हो गए, इसकी जानकारी उपलब्ध कराई जाए। 

जानकारी नहीं देने पाने पर अध्यक्ष ने जताई नाराजगी
इसके अलावा अध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह ने कार्यपालन यंत्री एसके चतुर्वेदी से कई सवाल भी किए। उन्होंने पूछा कि रीवा शहर में लोगों के घर तक एक लीटर पानी की सप्लाई क्या लागत आती है। यह जानकारी वो नहीं दे पाए। शहर में सफाई व्यवस्था और बिजली पर खर्च होने वाली राशि के बारे में भी पूछा। इस दौरान अध्यक्ष ने अधिकारियों से कहा है कि अगली बैठक में जब आएं तो सभी दस्तावेज साथ लेकर आएं। जोन क्रमांक तीन के प्रभारी राजेश सिंह बैठक में मौजूद नहीं रहे, जिस पर अध्यक्ष ने कहा है कि यदि किसी दूसरे कार्य में अधिकारी हैं तो उसकी लिखित सूचना आयुक्त के माध्यम से उपलब्ध कराई जाए। इस बैठक में प्रमुख रूप से लेखा समिति सदस्य गंगा यादव, विमला सिंह, रफीकुन शहनाज अंसारी, संजय खान, सहायक आयुक्त दीपक पटेल, कार्यपालन यंत्री एसके चतुर्वेदी, एचके त्रिपाठी, सहायक आयुक्त एमएस सिद्दीकी, रामनरेश तिवारी, केएन साकेत, राजेश मिश्रा, बीएस बुन्देला,  एसएल दहायत, राजस्व अधिकारी रावेन्द्र सिंह, नीलेश चतुर्वेदी, अविनाश त्रिपाठी, जेपी द्विवेदी, स्वास्थ्य अधिकारी मुरारी कुमार, भागीरथ गौर, अभिनव चतुर्वेदी, सुधाकर पाण्डेय सहित अन्य मौजूद रहे।