I am Collector Manoj Pushp is speaking; यूपी के युवक ने कलेक्टर बनकर भाई की नौकरी के लिए लगाया फोन

सिविल लाइन पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर युवक को किया गिरफ्तार 
 | 
I am speaking Rewa collector make appointment in any case

रीवा। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले में रहने वाले एक युवक ने ऐसा कृत्य किया है जिसकी हिम्मत आसानी से कोई नहीं कर सकता है। युवक पर आरोप है कि रीवा कलेक्टर बनकर उसने अपने भाई की नौकरी के लिए भोपाल फोन लगाया, लेकिन भोपाल में बैठे अधिकारी को बात करने का तरीका कुछ अलग लगा और कलेक्टर को फोन लगा कर पूछ लिया। इस तरह युवक की पोल खुल गई और अब वह हवालात के अंदर हैं।

एमपी ई-कॉम के माध्यम से कंप्यूटर ऑपरेटर की भर्ती हो रही है। प्रयागराज निवासी नीलेश कुमार द्विवेदी 28 वर्ष ने वरिष्ठ सलाहकार कमलेश सेन को फोन लगाया कि मैं डीएम मनोज पुष्प बोल रहा हूं.....फोन लगाने के साथ ही अपने भाई गणेश द्विवेदी की नियुक्ति कंप्यूटर ऑपरेटर के रूप में करने को कहा, वरिष्ठ सलाहकार कमलेश को फोन करने वाले व्यक्ति की बात करने का तरीका ठीक ना लगने पर कहा कि कुछ देर से फोन कीजिए इसके बाद जब फोन गया तो सारी बातें रिकॉर्ड कर ली।

इसके बाद कमलेश ने रीवा कलेक्टर मनोज पुष्प को फोन से बात कर पूरी जानकारी ली। यह सुनकर कलेक्टर भी हैरान रह गए। उन्होंने इसकी जानकारी एसपी रीवा को दी। जिस पर पुलिस ने गोपनीय तरीके से कलेक्टर बनकर फोन करने वाले युवक की तलाश की। 
 

मिस्टर 420 के पुराने मामले भी है दर्ज 
सिविल लाइन टीआई हितेंद्र शर्मा ने बताया कि आरोपी निलेश कुमार द्विवेदी के विरुद्ध पूर्व में चोरहटा और समान थाने में भी मामले दर्ज हैं। कलेक्टर बनकर नौकरी की सिफारिश करने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया। 

कलेक्टर बनकर भाई के लिए नौकरी की सिफारिश करने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है गया है। प्रयागराज यूपी के रहने वाले इस आरोपी ने नौकरी के लिए भोपाल फोन किया था। अनिल सोनकर, एसएसपी रीवा