MP कर्मचारियों के लिए बड़ी ख़ुशख़बरी, महंगाई भत्ता बढ़ाया गया, मिल सकेगा 9000 रुपये

मध्यप्रदेश सरकार राज्य के 7.50 लाख कर्मचारियों को 4% महंगाई भत्ता (डीए) देने जा रही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने ये घोषणा शनिवार को नसरुल्लगंज में आयोजित एक कार्यक्रम में किया।
 | 
d

मध्यप्रदेश सरकार राज्य के 7.50 लाख कर्मचारियों को 4% महंगाई भत्ता (डीए) देने जा रही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने ये घोषणा शनिवार को नसरुल्लगंज में आयोजित एक कार्यक्रम में किया। इसके भुगतान के आदेश 1-2 दिन में जारी कर दिये जाएँगे। इससे महंगाई भत्ता 34 से बढ़कर 38% हो जाएगी। 

डीए के ऑर्डर में विस्तृत रूप से जानकारी होगी कि डीए देने की तारीख़ क्या होगी। 1 जुलाई 2022 सी लेकर 1 जनवरी 2023 के बीच बढ़े हुए डीए के बारे में स्थिति स्पष्ट हो सकती है। अभी फ़िलहाल वित्त विभाग की तैयारी के अनुसार 4% डीए के भुगतान में सरकार पर प्रतिवर्ष 1440 करोड़ रुपये का अतिरिक्त भार आएगा। 

साढ़े सात लाख लोगों को मिलेगा महंगाई भत्ता 
मध्यप्रदेश में नियमित शासकीय कर्मचारियों की संख्या 6 लाख 40 हज़ार है। वहीं 1 लाख 10 हज़ार वर्क चार्ज और दैनिक वेतन भोगी भी है। इस प्रकार से महंगाई भत्ते का लाभ प्रदेश के 7.50 लाख लोगों को मिलेगा। डीए की बढ़ोत्तरी का न्यूनतम 15500 रुपये वेतन पाने वाले लोगों को 625 रुपये और अधिकतम 2 लाख 15 हज़ार रुपये वेतन पाने वाले कर्मचारियों को 9000 रुपये प्रतिमाह का फ़ायदा होगा। 
इनमें राज्य सरकार के सुपर क्लास-1, क्लास-1, द्वितीय श्रेणी, तृतीय श्रेणी और चतुर्थ श्रेणी के लोग शामिल है। 

दो सालों से गड़बड़ाया है गणित 
पिछले सो सालों से डीए का गणित पूरी तरह से गड़बड़ाया हुआ है। केंद्र सरकार ने इस रोक को जुलाई 2021 से हटा दिया था। वहीं राज्य सरकार ने अक्टूबर 2021 से कर्मचारियों को 8% डीए दिया। मार्च 2022 में 5% डीए व 1 अगस्त से 3% डीए दिया। ऐसे में राज्य सरकार को 4500 करोड़ रुपये के भुगतान करने पड़े। 

पुरानी पेंशन बहाली की माँग
विदिशा में एमपी अधिकारी, कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के बैनर तले कर्मचारियों ने कलेक्ट्रेट पहुँचकर अपनी माँगों को लेकर नारेबाज़ी की और एक ज्ञापन सौंपा। इसमें पुरानी पेंशन बहाली और सार्थक ऐप को लेकर प्रमुख मुद्दा रहा।