मध्य प्रदेश के इस जिले की धरती अब उगलेगी सोना, सरकार ने खदान नीलामी की शुरू की तैयारी

जीएसआई ने सिंगरौली में सोने की खदानों की पुष्टि की 
 | 
Gold mines found in Singrauli, Madhya Pradesh

मध्य प्रदेश की धरती खनिज संपदा से भरपूर यहां की जमीन पर हीरा तो पहले से ही निकल रहा है, अब सोना भी निकलेगा, हैरान होने की बात नहीं है, यह बात किल्कुल सच है। खनिज विभाग के विज्ञानियों ने मध्य प्रदेश के सिंगरौली में सोने की खदान खोजी है। यहां के गुरहर पहाड़ पर सोने की खदान मिली है। जीएसआई की सर्वे रिपोर्ट के बाद अब सरकार ने इस खदान को नीलामी की प्रक्रिया भी शुरू करने जा रही है।

अभी तक हीरों की खदानों के लिए जाना जाने वाला मध्य प्रदेश अब जल्दी ही सोने की खदानों के लिए भी जाना जाएगा। जियोलाजिकल सर्वे ऑफ इंडिया द्वारा सोने की संभावनाओं का सर्वे करते हुए सिंगरौली में सोने की खदानों की पुष्टि की गई है। इस पथरीले क्षेत्र में पिछले दो साल से सोने की खदानों की खोज की जा रही थी। इसके लिए भारत सरकार के भू-विज्ञानियों की मदद ली गई है।

एक टन पत्थर में मिलेगी सोने की इतनी मात्रा
जानकारी के मुताबिक सिंगरौली के गुरहर पहाड़ पर जल्दी ही सोने की खदाने शुरू होंगी। बताया गया है कि इन सोने की खदान से एक टन पत्थर निकालने पर उसमें 1.03 ग्राम सोना हासिल होगा।  ये खदान कुल 149.30 हेक्टेयर क्षेत्र में फेली हुई है। मप्र सरकार इन खदानों की जल्दी ही नीलामी करेगी। इसकी तैयारी में खनिज विभाग के अधिकारी लगे हुए हैं।

2002 से मध्य प्रदेश में की जारी थी की खोज 
मध्य प्रदेश में हीरे सहित लाइम स्टोन, मैगनीज लौह अयस्क सहित कई अन्य महत्वपूर्ण और उपयोगी, बेशकीमती खनिज संपदा देने वाली धरती से सोना निकलने की संभावनाएं विज्ञानियों ने जताई थी। जिसके बाद 2002 से मप्र में सोने की खोज में खनिज विज्ञानी लगे हुए थे। अंतत: जियोलाजिकल सर्वे ऑफ इंडिया ने सोने की संभावनाओं का सर्वे करते हुए सिंगरौली में सोने की खदानों की पुष्टि की है। सिंगरौली के अलावा अभी भी कटनी, बालाघाट, सिवनी, बैतूल, शहडोल, छिंदवाड़ा, जबलपुर और उमरिया जिलों में सोने की खोज जारी है।