लिव इन पार्टनर की हत्या कर आरी से शव के किए 35 टुकड़े और रख दिया फ्रिज में, जानिए कैसे हुए खुलासा

एक-एक कर शव के टुकड़ों को प्लास्टिक बैग में भरकर फेका
 | 
Shraddha Murder Case

राजधानी दिल्ली में एक दिल दहलाने वाली वारदात सामने आई है। पांच महीने पहले हुई इस वारदात के खुलासे में जो जानकारी सामने आई है ओ हिलाकर रख देने वाली है। आफताब नामक एक व्यक्ति ने 1500 किलोमीटर से दूर आकर अपनी लिव इन पार्टनर श्रद्धा की बड़ी ही बेरहमी से हत्या कर दी। दिल्ली पुलिस ने  इस कत्ल की गुत्थी को सुलझाते हुए पांच महीने बाद आरोपी आफताब अमीन पूनावाला को हिरासत में ले लिया है। पुलिस अब मृतक श्रद्धा के शरीर के उन टुकड़ों को आफताब के जरिए   ढूंढ रही है, जिन्हें आरोपी ने हत्या करने के बाद अलग-अलग स्थानों पर फेंक दिया था।


मुंबई में हुई थी मुलाकात
बता दें कि दिल्ली के महरौली थाने में श्रद्धा के पिता ने बेटी के लापता होने की शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस को पिता विकास मदान ने बताया था कि वह परिवार सहित महाराष्ट्र के पालघर में रहते हैं। और उनकी  बेटी श्रद्धा (26) मुंबई के मलाड में स्थित एक मल्टीनेशनल कंपनी के कॉल सेंटर में काम करती थी। यहीं पर काम करते हुए उसकी मुलाकात आफताब अमीन से हुई। धीरे-धीरे दोनों एक-दूसरे को पसंद करने लगे और फिर दोनों लिव-इन रिलेशन में रहने लगे। घरवालों को जब इस बारे में पता चला तो सभी ने इस रिश्ते का विरोध करना शुरू कर दिया। लेकिन वो नहीं माने और दोनों मुंबई छोड़ दिया और दिल्ली आकर रहने लगे।
 

फेसबुक से मिली बेटी की लोकेशन
पिता ने पुलिस को बताया कि कुछ दिनों बाद उन्हें पता चला कि उनकी बेटी महरौली के छतरपुर इलाके में रह रही है। उसके बाद किसी न किसी जरिए से बेटी की खबर  मिलती रहती थी। फेसबुक पर शेयर की गई फोटो से यह भी पता चला कि श्रद्धा हिमाचल प्रदेश भी घूमने के लिए गई है, लेकिन उसके बाद से उसकी कोई खबर नहीं मिली। फोन नंबर पर भी कई बार संपर्क करने की कोशिश की गई, लेकिन वह लगातार  बंद आ रहा था। जिसके मन में तरह-तरह के खयाल आने लगे और अनहोनी की आशंका पर वह 8 नवंबर को छतरपुर स्थित उस फ्लैट में गए जहां बेटी किराए पर रहती थी। लेकिन वहां पर ताला बंद था। महरौली थाने में पहुंचकर किडनैपिंग की सूचना दी और एफआईआर दर्ज कराई।
 

आरी से शव के किए 35 टुकड़े
शिकायत के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की और आफताब को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस पूछताछ में आफताब ने बताया कि श्रद्धा अक्सर उस पर शादी करने को लेकर दबाव बनाती थी। इस बात पर दोनों में विवाद होता था, 18 मई को भी झगड़ा हुआ तो गुस्से में उसने श्रद्धा की गला घोंटकर हत्या कर दी। इसके बाद शव को आरी से 35 टुकड़ों में काटा और तीन  अलग-अलग जगहों पर फेंक दिया।  पुलिस आरोपी के बयान के आधार पर श्रद्धा के शव टुकड़े तलाशने में लगी है।
 

फ्रिज में 18 दिन तक रखे शव के टुकड़े
बताया जा रहा है कि आफताब ने हत्या के बाद श्रद्धा के शव के आरी से 35 टुकड़े करके, अपने घर में रखा. इसके लिए एक बड़ा फ्रिज खरीदकर लाया और 18 दिनों तक शव को घर में रखा। और एक-एक करके रात में शव के टुकड़े को प्लास्टिक बैग में लेकर फेंक दिया।