गेट 2023 : इंजीनियरिंग व टेक्नोलॉजी सहित विभिन्न डिसिप्लिन में नौकरी के लिए परीक्षा है अहम

गेट 2023 : परीक्षा सेंटर की बात करें तो अभ्यर्थी दी गई लिस्ट में से प्राथमिक रूप से तीन सेंटरों को चुन सकते हैं
 | 
Gate 2023

ग्रेजुएट एप्टीट्यूट टेस्ट इन इंजीनियरिंग (गेट) की परीक्षा इंजीनियरिंग ग्रेजुएट्स के लिए बेहद अहम है। इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आइटीआइ) की ओर से इस बार इस परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है। नए ग्रेजुएट एस्पिरेंट्स के लिए यह परीक्षा बेहद उपयोगी है। ऐसे में इंजीनियरिंग और टेक्नोलॉजी के विभिन्न डिसिप्लिन के अलावा आर्किटेक्चर, साइंस, कॉमर्स विषयों में भी आगे बढ़ने के कई मौके हैं। ये कैंडिडेट 30 सितंबर, 2022 तक आवेदन कर सकते हैं। इस बार गेट परीक्षा का आयोजन 4, 5, 11 व 12 फरवरी, 2023 को किया जाएगा। जानें कि किस तरह से आप गेट परीक्षा का हिस्सा बन सकते हैं-

जरूरी योग्यता
ऐ से उम्मीदवार जो वर्तमान में किसी भी स्नातक डिग्री कार्यक्रम के तीसरे या उच्चतर वर्ष में अध्ययन कर रहे हैं या पहले ही इंजीनियरिंग/प्रौद्योगिकी/वास्तुकला/विज्ञान/ वाणिज्य/कला में सरकार की ओर से अनुमोदित डिग्री कार्यक्रम पूरा कर चुके हैं। इसके अलावा साइंस/ मैथेमेटिक्स / स्टेटिस्टिक्स/ कम्प्यूटर एप्लीकेशन में मास्टर डिग्री धारक इंजीनियरिंग/ टेक्नोलॉजी में चार वर्षीय इंटीग्रेटेड मास्टर डिग्री (बीएससी के बाद) रखने वाले या इन कोर्सेज की फाइनल ईयर की परीक्षा दे रहे स्टूडेंट्स पांच वर्षीय इंटीग्रेटेड मास्टर डिग्री या इंजीनियरिंग/ टेक्नोलॉजी में ड्युअल डिग्री रखने वाले छात्र भी परीक्षा देने के योग्य हैं। बीएससी/बीए/ बीकॉम करने वाले छात्र भी टेस्ट देने योग्य हैं।

30 सितंबर 2022 आवेदन की अंतिम तिथि है। इसके बाद अप्लाई करने पर आवेदन शुल्क बढ़ जाएगा

गेट स्कोर
इस वर्ष गेट परीक्षा का परिणाम 16 मार्च, 2023 को घोषित कर दिया जाएगा। एस्पिरेंट्स ध्यान रखें कि गेट स्कोर इस तिथि से अगले तीन वर्ष के लिए मान्य होगा। खास बात यह है कि इस टेस्ट के स्कोर के जरिए आइआइएससी एवं देश के प्रमुख आइआइटी में पोस्ट ग्रेजुएट लेवल के प्रोग्राम में प्रवेश पाने के अलावा एमएचआरडी एवं सरकार की तरफ से स्कॉलरशिप हासिल कर सकते हैं। देश के सार्वजनिक क्षेत्र के कई उपक्रम जैसे बीएचईएल, ओएनजीसी, गेल, एनटीपीसी, एचएएल, आइओसीएल आदि गेट स्कोर के माध्यम से ही भर्तियां करते हैं। इससे आप कई सरकारी नौकरी पाने के योग्य भी हो जाते हैं।

पेपर पैटर्न
तीन घंटे की समयावधि वाली गेट परीक्षा सीबीटी यानी कम्प्यूटर आधारित होगी। इसमें पेपरों की कुल संख्या 29 है। सभी विषयों के अभ्यर्थियों के लिए जनरल एप्टीट्यूड का एक कॉमन पेपर होगा। जिसमें 10 प्रश्न मल्टीपल च्वॉइस एवं न्यूमेरिकल आंसर टाइप जनरल एप्टीट्यूड से पूछे जाएंगे। शेष 55 प्रश्न चुने गए विभिन्न विषयों पर आधारित होंगे। इस प्रकार कुल 65 सवाल पूछे जाएंगे। प्रश्नों की प्रकृति विशेष क्षमताओं का परीक्षण करने के लिए तय की गई है जिसमें प्रमुख हैं एप्लीकेशन, विश्लेषण, कॉम्प्रिहेंशन, रिकॉल और सिंथेसिस। सभी प्रश्न 1 या 2 अंकों के होंगे। गलत जवाब के लिए निगेटिव मार्किंग का प्रावधान है।

अंतरिक्ष इंजी. (एई), कृषि इंजी. (एजी), वास्तुकला व योजना (एआर), जैवचिकित्सा इंजी. (बीएम), जैव प्रौद्योगिकी (बीटी), सिविल इंजी. (सीई), रासायनिक इंजी. (सीएच), कम्प्यूटर विज्ञान व सूचना प्रौद्योगिकी (सीएस), रसायन विज्ञान (सीवाई), इलेक्ट्रॉनिक्स व संचार इंजी. (ईसी), इलेक्ट्रिकल इंजी. (ईई), पर्यावरण विज्ञान व इंजी. (ईएस), पारिस्थितिकी व विकास (ईवाई), जियोमैटिक्स इंजी. (जीआई), भूविज्ञान व भूभौतिकी (जीजी), इंस्ट्रूमेंटेशन इंजी. (आईएन), गणित (एमए), यांत्रिक इंजी. (एमई), खनन इंजी. (एमएन), मैटलर्जिकल इंजी. (एमटी), नेवल आर्किटेक्चर एंड मरीन इंजी. (एनएम), पेट्रोलियम इंजी. (पीई), भौतिकी (पीएच), उत्पादन व औद्योगिक इंजी. (पीआई), सांख्यिकी (एसटी), कपड़ा इंजी. व फाइबर विज्ञान (टीएफ), इंजी. विज्ञान (एक्सई), मानविकी और सामाजिक विज्ञान (एक्सएच) व जीवन विज्ञान (एक्सएल)।

850 रुपए एससी, एसटी व पीडब्ल्यूडी कैंडिडेट को प्रत्येक पेपर के लिए देय होंगे। विदेशी छात्राें के अलावा अन्य छात्रों के लिए आवेदन शुल्क 1700 रुपए हैं।