World Book of Records में रीवा के दो साल के अविराज शामिल, पलक झपकते ही बता देते है प्रदेश की राजधानी के नाम

पलक झपकते ही बता बता देते है प्रदेश की राजधानी के नाम
 | 
rewa word rekad

भोपाल/रीवा। आप कल्पना कर भी नहीं सकते कि 2 साल का नन्हा बच्चा जो अभी ठीक से बोल भी नहीं पाता वह नक्शे को देखकर पलक झपकते ही किसी भी देश या प्रदेश का नाम राजधानी सहित बता दे, पर ऐसा रीवा के 2 साल के अविराज के लिए संभव है। 2 साल के अविराज ने ऐसा कर वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा लिया है। वही इस बच्चे की प्रतिभा को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड संस्था ने भी सराहा है। यह रीवा व प्रदेश के लिए बड़ी उपलब्धि है। बता दें कि इंडियन एयरफोर्स के अधिकारी आर.के. तिवारी निवासी संजय नगर के 2 वर्षीय पुत्र अविराज ने ना केवल अपने माता-पिता का नाम रोशन किया वल्कि देश को गौरवान्वित किया है। अविराज की मॉ अपराजिता तिवारी ने इसे ईश्वर की कृपा बताती हैं।

अविराज भारत के नक्शे को देखकर किसी भी प्रदेश और उसकी राजधानी का नाम पलक झपकते ही बता देता है। यही नहीं विभिन्न प्रदेशों के अलावा अलग-अलग टुकड़े उसके सामने रख दिए जाए तो वह एक-एक का नाम लेकर क्रमशः से रखते हुए पूरा नक्शा बना देता है। इसी तरह दुनिया के नक्शे पर किसी भी देश का नाम बताता है कि सामने बैठे लोगों को विश्वास ही नहीं होता कोई बच्चा भी ऐसा भी कर सकता है। अविराज की प्रतिभा देखकर उस समय और भी विस्यमय में हो जाता है जब वह किसी भी फाइटर हेलीकॉप्टर की तस्वीर देख मॉडल समेत उसका नाम बता देता है। जब अविराज की वीडियो को गिनीज वर्ल्ड ऑफ रिकॉर्ड संस्था के लोगों ने देखा तो वह भी हैरान रह गए। 

2 सेकंड में अभिराज के लिए दिए जवाब
अविराज की इस प्रतिभा को लेकर वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड के अधिकारियों ने कुछ मिनट की समय बाध्यता के साथ वीडियो बनाने को कहा। हर पहचान के लिए एक-दो सेकंड का समय लेते हुए अविराज ने यह भी कर दिखाया। नन्हे अविराज ने की प्रतिभा को सम्मान देते हुए उन्होंने अपनी बुक के लिए उम्र की सीमा होने के कारण लंदन की संस्था बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड से संपर्क करने की सलाह दी। मेंबर ऑफ सेंटर वर्किंग कमेटी की बैठक में वीडियो रखे गए और अविराज का नाम वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज किया गया। इसके बाद संस्था ने प्रशंसा पत्र भेजते हुए शुभकामनाएं प्रेषित की है नए वर्ष के साथ ही बुक की एक प्रति भी भेजी जाएगी।